Header advertisement

मोबाइल वॉलेट यूजर्स जरूर पढ़ें RBI की नई गाईडलाइंस! Mobile Wallet Users Surely Read RBI's Guidelines!

मोबाइल वॉलेट यूजर्स जरूर पढ़ें RBI की नई गाईडलाइंस! Mobile Wallet Users Surely Read RBI's Guidelines!


in this post you can learn rbi new requrment



मोबाइल वॉलेट से होने वाले फ्रॉड लेनदेन की जिम्मेदारी अब वॉलेट कंपनियों की होगी. मोबाइल वॉलेट यूजर्स को अन-ऑथराइज्ड ट्रांजेक्शन और फ्रॉड ट्रांजेक्शन से सुरक्षा देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने नई गाइडलाइन्स जारी की हैं.





👌 पेटीएम, फोन-पे, फ्रीचार्ज, गूगल पे जैसे प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रूमेंट्स (पीपीआई) पर नए नियम लागू होंगे.

💁‍♂ क्या है नई गाईडलाइंस?


  1.  फ्रॉड होने पर यूजर को 3 दिन के अंदर वॉलेट कंपनी को सूचना देनी होगी. अगर फ्रॉड कंपनी की लापरवाही के चलते हुआ है तो कंपनी को बिना सूचना के भी रिफंड करना होगा.
  2. अगर यूजर धोखाधड़ी होने के बाद चार से सात दिनों के अंदर वॉलेट कंपनी को सूचना देता है तो वॉलेट कंपनी को नुकसान की रकम के बराबर या अधिकतम 10 हजार रुपए तक की भरपाई करनी ही होगी.
  3. उपभोक्ता धोखाधड़ी की सूचना सात दिनों के बाद वॉलेट कंपनी को देता है तो उसे कंपनी की पॉलिसी के अनुसार अमाउंट रिफंड किया जाएगा.
  4. फ्रॉड लेनदेन की सूचना के बाद नियमानुसार अगर कंपनी को रिफंड करना है, तो उसे यह 10 दिन के भीतर करना होगा.

No comments:

Powered by Blogger.