Header advertisement

जानिये कैसे हुई 'बाल दिवस' मनाने की शुरुआत 'Children's Day' Special

आज 14 November देशभर में Childrens day यानी बाल दिवस मनाया जा रहा है. बच्चे देश की मूल्यवान संपत्ति हैं और वही भविष्य के लिए आशा हैं. देश के सभी लोग बच्चों के स्थिति के विषय में अच्छे से सोचें यह सोच कर ही चाचा नेहरु ने अपने स्वयं के जन्म दिन को बाल दिवस के रूप में मनाने के लिए चुना था.
Childrens day special amazing facts, childrens day information, childrens day ki rochak jankari, childrens day images
Childrens day special amazing facts


जानिये कैसे हुई 'बाल दिवस' मनाने की शुरुआत - 
Know how to start 'Children's Day'

Childrens day के दिन बच्चों को gifts दिए जाते हैं और स्कूलों में तरह-तरह के कार्यक्रम आयोजित कराए जाते हैं.

नेहरू का बच्चों से प्यार

14 नवंबर 1889 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में जन्मे जवाहर लाल नेहरू को बच्चों से खासा लगाव था और बच्चे उन्हें 'चाचा नेहरू' कहकर पुकारते थे. वे कहते थे कि ये जरूरी है कि बच्चों को प्यार दिया जाए, उनकी देखभल की जाए ताकि वे अपने पैरों पर खड़े हो सकें.

कैसे हुई बाल दिवस मनाने की शुरुआत

भारत में 1964 से पहले तक बाल दिवस 20 नवंबर को मनाया जाता था, लेकिन जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद उनके जन्मदिन यानी 14 नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया गया. इस तरह से भारत को दुनिया से अलग अपना एक बाल दिवस मिला.

इससे पहले 1954 में संयुक्त राष्ट्र ने 20 नवंबर को बाल दिवस के तौर पर मनाने का ऐलान किया था. यही वजह है कि आज भी कई देशों में 20 नवंबर को ही बाल दिवस मनाया जाता है, जबकि कई देश ऐसे हैं जो 1 जून को बाल दिवस मनाते हैं.

Final words - Again happy childrens day to all and please share this amazing information and fact to your friends and family...

No comments:

Powered by Blogger.